Breaking News

ब�रेकिंग न�यूज़

सीतापुर, गर्भवती व धात्री भी लगवा सकती हैं कोरोना रोधी टीका.

post

सीतापुर, गर्भवती व धात्री भी लगवा सकती हैं कोरोना रोधी टीका

- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए दिशा-निर्देश

- एनएचएम निदेशक ने डीएम व सीएमओ को लिखा पत्र

सीतापुर, 14 जुलाई। यदि आप गर्भवती हैं अथवा अपने शिशु को स्तनपान करा रहीं हैं तो  आपके लिए  एक अच्छी खबर है। अब आप भी  कोरोना से बचाव के लिए कोरोना रोधी टीका  लगवा सकती हैं।   टीकाकरण को लेकर  फैली विभिन्न भ्रांतियों को मिटाते हुए  केंद्रीय  स्वास्थ्य मंत्रालय ने गर्भवती  को भी कोरोना रोधी टीका लगवाने के संबंध में दिशा-निर्देश  जारी किए हैं।  राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन  की मिशन  निदेशक अपर्णा उपाध्याय ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों व सीएमओ को पत्र भेजकर गर्भवती  के टीकाकरण कराने के निर्देश दिए हैं। इससे पूर्व मंत्रालय जच्चा के टीकाकरण को लेकर गाइड लाइन जारी कर चुका है।

सीएमओ डॉ. मधु भदौरिया का कहना है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर पर अभी पूरी तरह से अंकुश लग भी नहीं पाया है कि नए वैरिएंट सामने आ रहा है । कोरोना वायरस किसी को भी  अपनी चपेट में ले सकता है। कोरोना रोधी टीका और कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर ही इससे  बचा जा सकता है। इसीलिए सरकार हर किसी को यह टीका लगवाने के लिए कह रही है। सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर यह टीका मुफ्त लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना से बचाव का टीका गर्भावस्था से के शुरुआती माह से लेकर प्रसव तक कभी भी लगवाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि जो महिलाएं कोरोना से संक्रमित हुईं हैं, वह स्वस्थ होने के तीन माह बाद  यह टीका लगवा सकती हैं। उन्होंने कहा कि 35 साल से अधिक आयु की वह गर्भवती जोकि बीपी, शुगर अथवा अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं, उन्हें कोरोना का खतरा सबसे ज्यादा है। कोरोना रोधी टीका गर्भवतियों के लिए सुरक्षित है। उन्होंने यह भी बताया कि ऐसी गर्भावस्था के दौरान जिन्होंने कोरोना रोधी टीके लगवाए, प्रसव के बाद उनमें और उनके शिशु में एंटीबॉडी पाई गई। सीएमओ का कहना है कि गर्भावस्था के दौरान प्लेसेंटा के जरिए गर्भस्थ शिशु को कोरोना से बचाव की वैक्सीन  मिली, और शिशु को कोई परेशानी नहीं हुई। सीएमओ ने यह भी स्पष्ट किया है कि स्तनपान कराने वाली महिलाएं भी बिना संकोच के कोरोनारोधी टीका लगवाएं।

इनसेट ---

माहवारी के दौरान भी लगवाएं कोविड का टीका ---

वर्तमान में 18 साल से अधिक उम्र के युवक व युवतियों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया जा रहा है। ऐसे में किशोरियों के मन में यह सवाल भी है कि माहवारी के दौरान यह टीका लगवाना चाहिए या नहीं। इस संबंध में सीएमओ का कहना है कि माहवारी का टीके से कोई संबंध नहीं है। माहवारी के दौरान भी यह टीका लगवाया जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि यदि टीका लगने के बाद टीके की जगह दर्द हो या बुखार हो तो पैरासिटामॉल की गोली खा सकती हैं।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner