Breaking News

ब�रेकिंग न�यूज़

इटावा ,पोद्दार अंध विद्यालय प्रबन्धन द्वारा बंद स्कूल तत्काल चालू नहीं हुआ तो टूटेगी दल की बाध्यता: होगा आंदोलन,.

post

इटावा ,पोद्दार अंध विद्यालय प्रबन्धन द्वारा बंद स्कूल तत्काल चालू नहीं हुआ तो टूटेगी दल की बाध्यता: होगा आंदोलन,


-पोद्दार अंध विद्यालय के बाहर धरना देने वाले दृष्टिबाधित छात्रों को जबरन हटाए जाने का मामला जोर पकड़ने लगा आंदोलन गाँव गिराव तक पहुँचा,


-छात्रों को सामाजिक संगठनों का भी समर्थन मिला किया बैठक,


वाराणसी: राजातालाब (01/09/2021) पोद्दार अंध विद्यालय बंद करने के निर्णय वापस लेने की मांग जोर पकड़ने लगी है।


दृष्टिबाधित छात्रों का दल राजातालाब मे विभिन्न सामाजिक संगठनों से मिलकर बैठक किया,


आंदोलनरत छात्रों को जबरन पुलिस ने हटाया था।


कमिश्नरेट पुलिस द्वारा पोद्दार अंध विद्यालय। धरने से उठाए गए दृष्टिबाधित छात्रों का एक दल बुधवार को वाराणसी के विभिन्न जन संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और उन्हें घटनाक्रम के बारे में विस्तार से बताया।


पोद्दार अंध विद्यालय के बाहर धरना देने वाले दृष्टिबाधित छात्रों को जबरन हटाए जाने का मामला गाँव गिराव तक पहुंच गया। अंध विद्यालय के खोलने के लिए प्रदर्शन करने वाले छात्रों का एक दल वाराणसी में पूर्वांचल किसान यूनियन, मनरेगा मज़दूर यूनियन सहित विभिन्न जनसंगठनों के प्रतिनिधियों से मिलकर छात्रों ने अपनी व्यथा बताई। छात्रों ने 29 अगस्त की पुलिसिया कार्रवाई के साथ पोद्दार अंध विद्यालय के प्रबन्धन द्वारा स्कूल को बंद करने की साज़िशों के बारे में भी बताया।


पोद्दार अंध विद्यालय से संबंधित 5 छात्रों का दल राजातालाब स्थित एक वाटिका पहुंचा। जहां पर इन छात्रों ने विभिन्न जन संगठनों से मुलाक़ात कर समर्थन देने की माँग रखी है। दल के सदस्य मंदीप शर्मा, राकेश पटवा, प्रवीण यादव ने बताया कि संगठनों से अपनी बात कहने के लिए समय दिया। पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगीराज सिंह पटेल ने कहा कि ये सरकार बड़े पूंजीपतियों के लिए काम कर रही है। बस दिव्यांग नाम देने से सेवाभाव पूरा नहीं हो जाता। उन्हें उनका पूरा अधिकार मिलना चाहिए। प्रवीण यादव ने बताया कि संगठनों ने दृष्टिबाधित छात्रों के आंदोलन के प्रति अपना समर्थन जताया और हर सम्भव मदद का आश्वासन भी दिया है।


29 अगस्त को पुलिस ने जबरन खत्म कराया था धरना


दरअसल, दुर्गाकुंड स्थित पोद्दार अंध विद्यालय को चलाने वाले ट्रस्ट की तरफ से आर्थिक कारणों का हवाला देते हुए कक्षा 9 से 12 तक नए छात्रों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई थी। पोद्दार अंध विद्यालय के छात्र इस बात का विरोध करते हुए 23 दिनों से अंध विद्यालय के सामने मार्ग रोक कर धरना दे रहे थे। 28 अगस्त को यूपी कैबिनेट के मंत्री अनिल राजभर और 31 अगस्त को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से लखनऊ में भी मुलाकात की थी और धरना को मुख्य मार्ग से हटाकर अन्य जगह करने की आश्वासन दिया था। इसके बावजूद 29-30 अगस्त की रात 2:00 बजेधरना दे रहे छात्रों को पुलिस ने जबरन हटा दिया था। इस विषय को लेकर बीएचयू के छात्र-छात्रों ने प्रदर्शन भी किया था। इस बैठक में प्रमुख रूप से मंदीप शर्मा, राकेश पटवा, प्रवीण यादव, योगीराज सिंह पटेल, संजीव सिंह, राजन दुबे, राजकुमार गुप्ता, सुरेश राठौर, अवनीश पटेल, विरेंद्र यादव, राजेश यादव, हरिशरण, केशव वर्मा, गणेश शर्मा, बब्बू पटेल, विवेक विश्वकर्मा, मुस्तफ़ा आदि लोग उपस्थित थे।

राजकुमार गुप्ता ,

वाराणसी

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner