Breaking News

������������������������ ���������������

कानपुर ,सरसौल के गाँवों में चला कुष्ठ रोग पर सर्वे कार्यक्रम .

post

कानपुर ,सरसौल के गाँवों में चला कुष्ठ रोग पर सर्वे कार्यक्रम 


कानपुर, 10 सितम्बर 21 । जिले में कुष्ठ रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत सरसौल के गाँवों में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सर्वे किया । इसके अन्तर्गत  ग्रामीण क्षेत्रों में कुष्ठ रोग से ग्रसित व्यक्तियों की पहचान की गई ।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सरसौल के अन्तर्गत आने वाले गाँव रामनगर, कमालपुर, नज़फगढ़, पूरनपुर और उमराव खेड़ा में जिला कुष्ठ नियंत्रण प्रकोष्ठ की ओर से शुक्रवार के दिन सरसौल ब्लॉक के गाँवों में भ्रमण किया गया । इसका मकसद कुष्ठ रोग से ग्रसित मरीज़ के घर के आस-पास के क्षेत्रों में कुष्ठ रोग के लक्षणों वाले नए मरीजों की पहचान करना था । कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कुष्ठ रोगियों से संपर्क किया और उन्हें रोगी की देखभाल के लिए उपचार किट का वितरण भी किया ।

सर्वे टीम का नेतृत्व करते हुए जिला कुष्ठ अधिकारी डॉ. महेश कुमार ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अधीक्षक डॉ. रमेश कुमार व टीम के साथ सभी गांवों का भ्रमण करते हुए कुष्ठ के मरीजों का हाल जाना और पूरी तरह से ठीक होने तक उपचार जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया । टीम में जिला कुष्ठ परामर्शदाता डॉ. संजय यादव,  फिजियोथेरेपिस्ट पूजा शर्मा व गुलाब कुमार, नॉन मेडिकल असिस्टेंट आर.पी. मौर्या, वी.के.मिश्र, राजीव सक्सेना व पी.एम.डब्ल्यू. प्रवीन  कुमार ने कुष्ठ मरीजों के घर के आस-पास के सभी परिवारों की कुष्ठ रोग से सम्बंधित जाँच की । इसके साथ समुदाय को कुष्ठ रोग के उपचार व बचाव के प्रति जागरूक किया गया ।

डॉ. महेश कुमार ने बताया कि कुष्ठ रोग की रोकथाम और कुष्ठ से ग्रसित मरीज़ो को उचित उपचार और देखभाल  के उद्देश्य से सर्वे कार्यक्रम किया गया है । सर्वे में चिन्हित कुष्ठ मरीज़ के गाँव में सभी लोगों में कुष्ठ के लक्षणों की जाँच की जाती है, यदि किसी व्यक्ति में कुष्ठ के लक्षण मिलते है तो व्यक्ति की जाँच की जाती है और बीमारी की पुष्टि होने पर उपचार शुरू किया जाता है ।

कुष्ठ रोग के लक्षण –

शरीर पर सुन्न दाग होना 

हथेली या पैर के तलवे में सुन्नता

नसों में सूजन, मोटापन या दर्द होना 

हाथ, पैर, आँख में कमजोरी या  विकृति

घाव जिसमें दर्द न हो

चेहरे, शरीर या काँ पर गाँठ, छाले या घाव होना  

जिस किसी को भी कुष्ठ रोग के लक्षण हों वह नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, जिला कुष्ठ अधिकारी कार्यालय या शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जा कर जाँच अवश्य कराएँ – जिला कुष्ठ अधिकारी

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner