Breaking News

ब�रेकिंग न�यूज़

कमलापुर ,गौशाला में दर्जनों गौवंशो की मौत डॉक्टर ने किया इनकार शव झाड़ियों में बरामदत.

post

कमलापुर ,गौशाला में दर्जनों गौवंशो की मौत डॉक्टर ने किया इनकार शव झाड़ियों में बरामद


गोवंशों को  गौशाला परिसर से बाहर फेंका


उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद के विकास खण्ड कसमण्डा के चंद समय मे ही फिर दोहराया गौ हत्या काण्ड 


कमलापुर सीतापुर,उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद के बिकास खण्ड कसमण्डा की ग्राम पंचायत बहिरीमऊ मे बने गौ पशु आश्रय स्थल मे फिर हुई सनसनी फैला देने वाली वारदात ।अभी चंद समय ही बीता था रेवरी गौ हत्या काण्ड का लेकिन फिर भी गौ हत्या मे लिप्त प्रशासन के अधिकारियों की लापरवाही देखने को मिली है।बहिरीमऊ गौशाला मे 17/09/2021को रात मे लगभग एक दर्जन से अधिक गौ वंशो की मृत्यु हो गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हमारे संवाददाता मौके पर पहुंचे वहां पर उपस्थित कमलापुर पशु चिकित्सक मौजूद मिले जिनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया ऐसा यहां कोई मामला नहीं है। किसी भी प्रकार की गाय यहां मृत नहीं मिली है कुछ गाय बीमार मृत अवस्था में पड़ी थी जिनको देखकर ग्रामीणों ने मृत समझकर सूचना दे दी होगी ।जिनको हमने अभी इंजेक्शन व दवाई दे दिया है वह ठीक हो जाएंगी लेकिन जब हमारे संवाददाताओं ने इधर उधर तहकीकात करना शुरू किया तो गोवंश परिसर के बाहर काफी संख्या में कई पुराने व नए शव जंगल झाड़ियों में मृत अवस्था में पड़े पाए गए। जिनको देखकर लगता था कि आए दिन मृत गोवंश को इसी तरह जंगल झाड़ियों में फेंक दिया जाता है


जैन गौशाला का निरीक्षण किया गया जो टैंक में पानी की मात्रा भी नहीं थी टैंक में पानी  तलहटी में पाया गया जिसमें काफी गंदगी पड़ी हुई थी काफी दिन से  साफ सफाई नहीं हुई थी गौशाला में चार केयरट्रैकर तैनात है जो एक भी केयरट्रैकर मौके पर उपलब्ध नहीं था। मौके पर 172 गोवंश उपलब्ध मिले। जबकि 190 गोवंश पंजीकृत है। जिनको संलिप्त अधिकारियों की सांठगांठ से गौशाला परिसर के बाहर जंगली झाड़ियों में फेंकवा दिया गया जिनको कोवे शियार कुत्ते नोच नोच कर खा रहे थे। हमारे संवाददाताओं ने इसकी सूचना तहसील स्तर से लगाकर जिले स्तर पर सभी उच्चाधिकारियों को दी गई लेकिन मौके पर 5:00 बजे शाम तक कोई भी उच्चाधिकारी नहीं पहुंचा ग्राम प्रधान पंचायत सचिव एडीओ पंचायत एवं कमलापुर पुलिस प्रशासन थानाध्यक्ष रणवीर सिंह मौके पर पहुंचकर संवाद सूत्रों को समझा-बुझाकर मौके से विदा कर दिया गया और बताया गया कि मृत गायों को जेसीबी मंगवा कर डॉक्टर के द्वारा पोस्टमार्टम कराकर मिट्टी में दबाने का कार्य कर दिया जाएगा ।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner