Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

कानपुर,ए.एच.एम. डफरिन को एन्क्वास की उम्मीद, असेसमेंट पूरा .

post

कानपुर,ए.एच.एम. डफरिन को एन्क्वास की उम्मीद, असेसमेंट पूरा 

10 विभागों का चेकलिस्ट के अनुसार हुआ असेसमेंट

तीन स्तरों पर होता है मूल्यांकन 

कानपुर, 26 अक्टूबर 2021:  राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिए नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस स्टैंडर्ड (एन्क्वास) कार्यक्रम के अन्तर्गत ए.एच.एम. डफरिन हॉस्पिटल का असेसमेंट किया गया। इसके लिए भारत सरकार की ओर से केरल से डॉ. एम.जी. शिवदास और राजस्थान से डॉ. गिरीश द्विवेदी नामित किये गए थे। 

ए.सी.एम.ओ. व क्वालिटी एश्योरेंस के नोडल डॉ. एस.के.सिंह  ने बताया कि एन्क्वास कार्यक्रम के तहत वर्ष 2021-22 के लिए जिला महिला चिकित्सालय का वर्चुअल माध्यम से असेसमेंट पूरा कर लिया गया है। यह असेसमेंट 21 से 23  अक्टूबर तक चला। एन्क्वास सर्टिफिकेट के लिए चिकित्सालयों को राष्ट्रीय स्तर के मानकों को अपने केन्द्र पर स्थापित करना पड़ता है। एन्क्वास अवार्ड के लिए विभिन्न स्वास्थ्य चिकित्सालयों के लिए तीन स्तरों पर मानक निर्धारित हैं। कोई स्वास्थ्य केंद्र जब पहले स्तर के मानकों को कम से कम 70 प्रतिशत तक प्राप्त कर लेता है तभी उसे दूसरे स्तर पर जांचा जाता है। अपने चिकित्सालय में बेहतर स्वास्थ्य सेवाओ और मानकों को स्थापित करने के लिए जाँचकर्ताओं ने जिला महिला चिकित्सालय की प्रसंशा की। उन्होंने कहा कि पूरी सम्भावना है कि चिकित्सालय को एन्क्वास सर्टिफिकेट मिलेगा।

ए.एच.एम. डफरिन की मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका डॉ. सीमा श्रीवास्तव ने कहा कि हॉस्पिटल मैनेजर डॉ. दरक्शन परवीन, क्वालिटी अश्योरेंस की मण्डलीय एवं जिला टीम और हमारे पूरे स्टाफ ने एन्क्वास सर्टिफ़िकेशन के लिए कड़ी मेहनत की है, हमें पूरी आशा है कि हम सर्टिफिकेट प्राप्त करेंगे और हॉस्पिटल में दी जा रही सेवाओं और क्षमता को और बेहतर करेंगे। 

क्वालिटी एश्योरेंस के जिला समन्वयक डॉ. आरिफ ने बताया कि जिला महिला चिकित्सालय का एन्क्वास असेसमेंट 21 से 23  अक्टूबर तक चला। तीन दिन चले इस असेसमेंट में भारत सरकार की ओर से केरेला के डॉ. एम.जी. शिवदास और राजस्थान से डॉ. गिरीश द्विवेदी ने एन्क्वास चेकलिस्ट के अनुसार सभी 10 विभागों का असेसमेंट किया। इन विभागों में लेबर रूम, ओ.पी.डी., मैटरनिटी वार्ड, ऑपरेशन थेटर, लेबोरेटरी, जनरल एडमिनिस्ट्रेशन, एस.एन.सी.यू., पी.पी.यू. रेडियोलॉजी और सहायक सेवाएं शामिल हैं। असेसमेंट की रिपोर्ट जमा होने के बाद भारत सरकार द्वारा निर्धारित विभिन्न मानदंडो पर जाँच के बाद लगभग एक से डेढ़ माह में इसका परिणाम घोषित किया जाता है। एन्क्वास के तहत सरकारी अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने एवं उनकी गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner