Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

हरदोई,सौम्य, शालीन, संवेदनशीलता का दूसरा नाम है: एस के जैन.

post

हरदोई,सौम्य, शालीन, संवेदनशीलता का दूसरा नाम है: एस के जैन


अनुशासन के मामले में है कठोर

हरदोई।जिले के मंडलीय डाक अधीक्षक एसके जैन बेहद संवेदनशील और अनुशासन प्रिय अधिकारी हैं श्री जैन की सौम्यता और शालीनता तथा कर्मचारियों के दुख दर्द में अपना योगदान के चर्चे कर्मचारियों की जुबान पर रहते हैं उन्होंने अपने चेंबर के बाहर लगी नीली और लाल बत्ती अपने कार्यकाल तक जलाने बुझाने के कार्य को अलविदा कह दिया है श्री जैन का मानना है कि जिस विभाग के वह मुखिया हैं उस विभाग का एक छोटा या बड़ा कर्मचारी उनसे सीधे मिल सकता है तथा अपनी पीड़ा और समस्या बता सकता है यही वजह है कि श्री जैन कर्मचारियों की विभागीय और पारिवारिक समस्याएं भी सुलझाने में देर नहीं करते हैं कभी किसी कर्मचारी की खाकी द्वारा प्रताड़ना का समाचार मिलते ही वह खाकी तक से टकराने में गुरेज नहीं करते हैं डाक विभाग के पारिवारिक मुखिया का दायित्व भली-भांति निभाते हैं साथ ही अनुशासन के मामले में भी वह कोई ढील नहीं देते हैं आए दिन होने वाले  महा लोगिन डे मे वह स्वयं मेहनत करते हैं कार्य के प्रति समर्पित कर्तव्यनिष्ठ श्री जैन ने हरदोई जिले को भारतवर्ष के नक्शे पर नई पहचान दी है यही नहीं बरसों से चली आ रही डाक कर्मचारियों और ग्रामीण डाक कर्मचारियों के बीच की खाई को भी उन्होंने पाट दिया है कर्मचारी बताते हैं कि यह ऐसे पहले डाक अधीक्षक हैं जिन्होंने ग्रामीण डाक सेवकों का सम्मान कर उनके बलबूते प्रदेश और देश तक में अपने कार्य के झंडे फहरा दिए। कर्मचारी बताते हैं कि ग्रामीण डाक कर्मचारियों की सकारात्मक उर्जा का परिणाम श्री जैन ने डाक विभाग के आला हुक्मरानों के समक्ष इस तरह से पेश किया कि उनकी नजरों में भी ग्रामीण डाक कर्मचारियों के लिए सम्मान बढ़ गया श्री जैन की दूरदर्शी सोच का ही नतीजा है कि वह अपने कर्मचारी से जिस तरह चाहते हैं उस तरह से कार्य संपादित करा लेते हैं श्री जैन भले ही आगरा के रहने वाले हो लेकिन उनके द्वारा हरदोई में बनाई गई कर्मभूमि कर्मचारी युगो युगो तक याद करते रहेंगे श्री जैन का अपने अधीनस्थ कर्मचारियों से भी बेहद गहरा लगाव है और वहां उन कर्मचारियों के दुख सुख में सदा ही सम्मिलित होते हैं श्री जैन की एक और खूबी है कि वह अपने कर्मचारियों को कभी खट्टा तो कभी मीठा अनुभव भी करवाते रहते हैं उनकी सामंजस्य सोच और मानवीय कार्यशैली का भी जवाब नहीं है लॉकडाउन में उनके द्वारा जरूरतमंदों को राहत सामग्री का वितरण हो या फिर लंच पैकेट या फिर चाय का वितरण हर सामाजिक कार्य में भी वह बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने में कभी भी पीछे नहीं रहे मानवीय कार्यों मैं उनके द्वारा रफी अहमद किदवाई इंटर कॉलेज में छात्रों के हितार्थ सीलिंग फैन भी गिफ्ट किए गए जिसकी चर्चा भी कॉलेज के छात्रों और शिक्षकों के बीच अक्सर होती रहती है श्री जैन की दरियादिली का ही परिणाम है कि कोरोना काल में अपनी जीवन लीला समाप्त करने वाले कर्मचारियों के परिवारों की सहायता हेतु श्री जैन की एक आवाज पर कर्मचारियों ने अपने हाथ खोल दिए और देखते देखते लाखों रुपया एकत्र हो गया श्री जैन इस एकत्रित धनराशि से कोरोना का हाल में काल-कलवित्त हुए कर्मचारी के परिजनों की सहायता करेंगे ।श्री जैन ने डाक विभाग के मंडलीय डाक अधीक्षक रहते हुए जो झंडे बुलंदियों तक फहराए उसकी जिले के इतिहास में सदा ही चर्चे होते रहेंगे।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner