Breaking News

सोशल मीडिया

बिहार,सफल रही प्लास्टिक टुडे संयुक्त व्यापार ग्रुप की वेबिनार.

post

बिहार,सफल रही प्लास्टिक टुडे संयुक्त व्यापार ग्रुप की वेबिनार

*युफ्लेक्स,पतंजलि, मिलाक्रान इंडिया

समेत कई नामी-गिरामी कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों ने की भागीदारी


गत दिनों देश की प्रतिष्ठित व्यवसायिक पत्रिका संयुक्त व्यापार और प्लास्टिक्स टुडे द्वारा आयोजित तथा इंडियन प्लास्टिक इंस्टीट्यूट द्वारा समर्थित

"प्लास्टिक पैकेजिंग में आगे की राह" नामक ऑनलाइन परिचर्चा सफलतापूर्वक संपन्न हुई । इस परिचर्चा में MILACRON इंडिया प्रा.लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर शिरीष दिवगी, TERRASOUL पॉलीमर्स प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर सुबोध गुप्ता, 

राजू इंजिनियर्स लिमिटेड के प्रेसिडेंट सुनील जैन, यूफ्लेक्स लिमिटेड के ज्वाइंट प्रेसिडेंट जीवाराज पिल्लई

पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड (फूड डिवीजन) के चीफ जनरल मैनेजर 

सुमन कुमार झा मौजूद रहे, इस कार्यक्रम में विशेष आमंत्रित वक्ता के रूप में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के पूर्व सीनियर वाइस प्रेसिडेंट 

स्वप्न कुमार रे, (सचिव-

इंडियन सेंटर फॉर प्लास्टिक इन द एनवायरमेंट) ने विशेष तौर पर अपनी बात रखी!  

  कार्यक्रम की शुरुआत संयुक्त व्यापार, प्लास्टिक टुडे तथा नई पीढ़ी जैसी पत्रिकाओं के संपादक 

तथा देश के लेखकों पत्रकारों के प्रथम साझा मंच राइटर्स एंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन (वाजा इंडिया) के संस्थापक महासचिव शिवेंद्र प्रकाश द्विवेदी ने किया, उन्होंने उपस्थित वक्ताओं और श्रोताओं का स्वागत करते हुए कहा कि इस ऑनलाइन परिचर्चा का उद्देश्य कोई व्यक्तिगत स्वार्थ नहीं, बल्कि इंडस्ट्री का भलाई होना है,यदि इंडस्ट्री बढ़ेगी तो देश बढ़ेगा और देश बढ़ेगा तो हम सब आगे बढ़ेंगे, इसी लिए परिचर्चा आयोजित हुई कि  कोरोना काल के बाद भारतीय प्लास्टिक पैकेजिंग इंडस्ट्री अपना एक नया रास्ता खोज सके । 

परिचर्चा में इंडियन प्लास्टिक इंस्टीट्यूट के गवर्निंग काउंसिल चेयरमैन पंकज शाह ने अपनी बात रखते हुए कहा कि ऐसी ऑनलाइन परिचर्चा ही इंडस्ट्री को सही दिशा दे सकती हैं, हम संयुक्त व्यापार और प्लास्टिक टुडे के साथ मिलकर आगे भी इस तरह की तमाम परिचर्चायें करने की इच्छा रखते हैं । कार्यक्रम का संचालन इंडियन प्लास्टिक इंस्टीट्यूट की दिल्ली इकाई के चेयरमैन राकेश शाह ने बहुत ही बेहतरीन तरीके से किया। कार्यक्रम में करीब 400 उद्यमियों ने पंजीकरण किया तथा 84 उद्यमियों ने अपनी भागीदारी की।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner