Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

इटावा,महेवा समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मनाया गया हेल्दी बेबी शो .

post

इटावा,महेवा समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मनाया गया हेल्दी बेबी शो 

वंशिका को प्रथम पुरस्कार रामजी व रिया को संयुक्त रूप से दूसरा, आर्यन व रमन को संयुक्त रुप से मिला तीसरा स्थान 

स्वस्थ भारत की परिकल्पना तभी, जब आने वाली पीढ़ियां पूरी तरह से स्वस्थ हों :   डॉ गौरव त्रिपाठी


इटावा,22 नवम्बर 2021 |

बच्चों की बेहतर देखभाल के बारे में जनजागरूकता के लिए इस समय नवजात शिशु देखभाल सप्ताह 21 नवंबर तक मनाया गया,इसी के तहत सोमवार को महेवा समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में हेल्दी बेबी शो आयोजित हुआ। बेबी शो में एक  वर्ष से 5 वर्ष के बच्चों ने प्रतिभाग किया । प्रतियोगिता का उद्देश्य टीकाकरण, स्तनपान आदि विषयों पर जागरूकता बढ़ाना था। महेवा सीएचसी के स्थानीय ब्लाक सभागार में आयोजित बेबी शो में  34 बच्चों ने प्रतिभाग किया। वजन, स्तनपान, टीकाकरण की स्थिति, सामान्य साफ-सफाई के मानकों पर खरा उतरते हुए वंशिका ने प्रतियोगिता में पहला स्थान प्राप्त किया। रामजी व रिया संयुक्त रूप से दूसरे, आर्यन व रमन संयुक्त रुप से तीसरे पर रहे। सांत्वना पुरस्कार के रुप में कृष्ण दुबे, हिमांशु दुबे, कृष्णा ,एकता, जानवी, अर्पित चौबे आराध्या को पुरस्कृत किया गया।  प्रतिभाग करने वाले बच्चों को पुरस्कृत भी किया गया।

इस अवसर पर चिकित्सा अधीक्षक डॉ. गौरव त्रिपाठी ने कहा कि स्वस्थ भारत की परिकल्पना तभी की जा सकती है, जब आने वाली पीढ़ियां पूरी तरह से स्वस्थ हों जिसको शासन ने भी गंभीरता से लिया है। इसके लिए हर वर्ष चिकित्सालय में हेल्दी बाबी शो का आयोजन किया जाता है। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य माता पिता को यह बताना होता है कि अपने बच्चे का हम किस तरह ख्याल रखें कि वह स्वस्थ रहें  |

डॉ त्रिपाठी ने बताया कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य माताओं व बच्चों में साफ-सफाई, स्वास्थ्य एवं पोषण, टीकाकरण तथा बच्चों की बेहतर देखभाल के विषय में जागरूक करना है। इसके साथ ही उन्हें इस कार्यक्रम के माध्यम से संस्थागत प्रसव, विटामिन-के की खुराक के साथ ही नवजात के पहले घंटे के अंदर स्तनपान से लेकर छह माह तक सिर्फ स्तनपान के बारे में जानकारी दी जाती है। 

डॉ त्रिपाठी ने  बताया कि प्रसव के बाद शिशु को छह महीने तक  केवल स्तनपान ही कराना चाहिए व  छह महीने  के बाद शिशु को स्तनपान के साथ कम से कम दिन में दो से तीन बार ऊपरी आहार भी चम्मच से खिलाएं  ताकि बच्चें की  आदत पड़ सके। शुरू-शुरू में बच्चा थूकेगा। पर ऐसे ही वह खाना सीखना शुरू करेगा। पूरक आहार न लेने से बच्चा इसी उम्र से कुपोषित होना शुरू हो जाता हैं।

कार्यक्रम में उपस्थित वीडीओ राजेश कुमार मिश्रा ने कहा कि इस कार्यक्रम में संस्थागत प्रसव से हुए बच्चे जिन्हें समय-समय पर सभी टीकाकरण के साथ ही जन्म के एक घंटे के अंदर व छह माह तक सिर्फ स्तनपान कराया हो उसी को हेल्दी बेबी चुना जाता है।  उन्होंने कहा कि बच्चा तभी स्वस्थ रहेगा जब छह माह तक सिर्फ माँ का दूध पिएगा, माँ का दूध बच्चे को बीमारियों से बचाता है | ग्राम प्रधान बहेड़ा विजय प्रताप सिंह सेंगर ने भी संबोधित करते हुए कहा इस तरह के कार्यक्रम ग्रामीण जनजीवन में जागरूकता लाएंगे।

 इस अवसर पर  सहायक विकास अधिकारी (पंचायत)श्याम बरन राजपूत, बीपीएम सर्वेश दीक्षित,व अन्य स्टाफ राजेश कुमार देवी नंदू पाल प्रदीप कुमार वीरेंद्र कुमार पोरवाल अमित दुबे उपस्थित रहे।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner