Breaking News

������������������������ ���������������

सिधौली,क्या तहसील प्रशासन सहित बिन स्याही के कलमकारों की वसूली के दम पर है मिट्टी खनन जारी.

post

सिधौली,क्या तहसील प्रशासन सहित बिन स्याही के कलमकारों की वसूली के दम पर है मिट्टी खनन जारी

रिपोर्ट, गुरुप्रीत सिंह

अटरिया सिधौली सीतापुर यूपी के जनपद सीतापुर सिधौली कोतवाली क्षेत्र के अटरिया कमलापुर क्षेत्रों में कुछ बिन स्याही के कलमकारो की वसूली के दम पर चल रहा अवैध मिट्टी खनन का कारोबार कोतवाली पुलिस एवं प्रशासन ही शह कहें या मिलीभगत। जनपद में भी अवैध खनन पर रोक नहीं लग पा रही। शासन-प्रशासन के दावे कोरे साबित हो रहे हैं। जिले के विभिन्न क्षेत्रों से हर रोज हजारों टन बालू से लेकर मिट्टी तक की खोदाई की जा रही है। वहीं खनन विभाग को इनकी करतूतें नजर नहीं आ रहीं

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के नए फरमान से जनपदीय खनन माफिया बेखबर हैं। वहीं यहां बालू, मिट्टी के अवैध खनन की शिकायतें हैं। जनपद से गुजर रही  नदी का किनारा खनन माफिया के लिए कमाई का जरिया बना हुआ है। यहां से हर माह लाखों का कारोबार किया जा रहा है। कमलापुर छेत्र के घाट से लेकर अटरिया, के बेडसापुर घाट, भटपुर घाट एवं आदि तक गांव-गांव बनाए गए ठिकानों से जमकर रेत का खनन हो रहा है। हजारों टन रेत प्रतिदिन यहां से निकाला जा रहा है।


मिट्टी खनन से भी जनपद का कोई क्षेत्र अछूता नहीं है। अटरिया,बेडसापुर, अम्बरपुरबीरसिंह पुर एव कमलापुर के कई छेत्रो के पास ग्राम समाज एवं अन्य भूमि से होने वाली मिट्टी की खोदाई किसी से छिपी नहीं है। सुबह से देर रात तक यहां दर्जनों ट्रैक्टर इसी काम पर रहते हैं। वहीं आसपास के गांव के कुछ पत्रकार नामक अराजक तत्व कलम के दम पर मिट्टी भरने वालों से वसूली भी कर रहे हैं। शहरी क्षेत्र में बन रहे भवनों में भराव इसी मिट्टी से किया जा रहा है। इसके चलते वहां गहरे-गहरे गड्ढे हो गए हैं।

खनन प्रभारी कार्यालय के लिपिक का कहना है कि रेत की खोदाई का ठेका शासन से होता है, जबकि मिट्टी की अनुमति स्थानीय कार्यालय से होती है। इनके अनुसार इस माह में अवैध रेत एवं मिट्टी का कोई भी मामला नहीं पकड़ा गया।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner