Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

हरदोई,पुलिस बोर्ड लगाकर कर रही हेलमेट पहनने के लिए जागरूक.

post

हरदोई,पुलिस बोर्ड लगाकर कर रही हेलमेट पहनने के लिए जागरूक


हरदोई।पिहानी पुलिस ने लोगों को हेलमेट लगाने को जागरूक करने के लिए एक अनूठी पहल शुरू की है। ग्रामीण व कस्बे के चौराहों पर स्लोगन व नियमों के बोर्ड लगाकर लोगों को हेलमेट के प्रति जागरूक कर रही  है। पुलिस की ओर  हेलमेट लगाने के लिए में जागरूकता बोर्ड लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। बोर्ड में लिखे गए स्लोगन लोगों को यातायात के नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित कर रहै है। बोर्ड पर छपी बच्चों की ओर से  मार्मिक अपील पापा मोटरसाइकिल चलाने पर हेलमेट जरूर लगाना, आप मेरा भरोसा हो ने लोगों के दिल को छू लिया। मौजूद लोगों ने पुलिस को आश्वासन दिया कि वह हेलमेट अवश्य लगाएंगे।


कोतवाल डीके सिंह में शासन व प्रशासन  के मन्सानुकूल कार्य करते हुए कस्बा इंचार्ज प्रवीण कुमार ,उप निरीक्षक नरेंद्र सैनी , हेड मोहर्रिर राजेंद्र सैनी, , उप निरीक्षक अनिल सिंह एसएसआई रमेश सिंह, विनोद त्रिपाठी समेत कई पुलिसकर्मी जगह जगह बोर्ड लगवा कर हेलमेट के लिए लोगों को जागरूक कर रहे हैं। पुलिस की इस पहल की  लोगों ने खूब सराहना की। पुलिस की ओर से इन दिनों यातायात के दौरान हेलमेट पहनने, ओवरलोडिंग, नशा करके वाहन चलाने जैसे विषयों पर बस स्टैंड ,सल्लिया रोड ,बंदर पार्क समेत 15 जगहों पर लगाए जा रहे हैं। बोर्ड में छपे स्लोगनों का इस प्रकार चयन किया गया है, जिस पर न चाहते हुए भी लोगों का ध्यान चला जा रहा है। हेलमेट है जरूरी, न समझो मजबूरी। सड़क सुरक्षा नियमों का करो सम्मान, दुर्घटना में न गंवाओ अपनी जान जैसे स्लोगन लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे थे। बस स्टैंड पर राहगीर ने फ्लैक्स पर छपे स्लोगन की मोबाइल से फोटो खींचते नजर आए।



हेलमेट आइएसआइ मा‌र्क्ड होना क्यों जरूरी


कोतवाल डीके सिंह ने बताया कि सरकार ने बिना आइएसआइ मार्का हेलमेट की बिक्री पर सितंबर माह से रोक लगा दी है। ऐसे में जो भी हेलमेट बेचे जा रहे हैं वह आइएसआइ मार्क वाले ही हैं। इसमें लगा शीशा अच्छी क्वालिटी का और मजबूत होता है। इसकी विजिबिलिटी भी क्लियर होती है। इसे पहनने के बाद बाहर की आवाज सुनाई पड़ती है।

यहां उल्लेखनीय है कि

पिछले वर्ष के आंकड़ों को देखने से पता चलता है कि पिहानी कोतवाली के अंतर्गत  37 सड़क हादसे हुए थे जिनमें  18 लोगों को जान गंवानी पड़ी। इनमें 50 फीसद ऐसे थे जिन्होंने हेलमेट या सीट बेल्ट नहीं लगाए थे। सर्वे के दौरान पाया गया है कि हेलमेट और सीट बेल्ट लगाने पर सड़क हादसे में 50 से 60 फीसद मृत्यु की संभावना कम हो जाती है।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner