Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

इटावा,बेफिक्र होकर फाइलेरिया की दवा का सेवन अवश्य करें -सीएमओ.

post

इटावा,बेफिक्र होकर फाइलेरिया की दवा  का सेवन अवश्य करें -सीएमओ

जनपद में अब तक लगभग 10.75 हजार लोग कर चुके हैं दवा का सेवन

आशा और सुपरवाइजर ने पहले ग्रामीणों को समझाया फिर दवा का सेवन करवाया

इटावा 25 मई 2022।

फाइलेरिया उन्मूलन अभियान के तहत घर-घर जाकर आंगनवाड़ी व आशा के साथ स्वास्थ्य टीमें फाइलेरिया की दवा का सेवन करवा रहे हैं इस अभियान को सफल बनाने के लिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ भगवान दास ने बताया कि-सरकार द्वारा यह दवा निशुल्क रूप से घर-घर जाकर खिलाई जा रही है।  जिससे फाइलेरिया जैसी घातक बीमारी से लोगों को बचाया जा सके क्योंकि शरीर में फाइलेरिया का जीवाणु यदि आज पहुंच जाता है तो वह 20 साल बाद भी असर कर सकता है लेकिन अगर आप साल में एक बार लगातार 5 साल तक दवा खा लेते हैं तो फाइलेरिया का कोई भी जीवाणु जो 15 साल पहले से भी आपके शरीर में होगा वह समाप्त हो जाएगा। इसीलिए बेफिक्र होकर फाइलेरिया की दवा का सेवन अवश्य करें ।

 मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में लगभग अब तक 10.75 हजार लोगों ने दवा का सेवन कर लिया है। फाइलेरिया अभियान के तहत एमडीए कार्यक्रम में जिस तरह से आशा आंगनवाड़ी और स्वास्थ्य टीमें जिस तरह काम कर रही है वह सराहनीय है।

ग्रामीणों को समझाया फिर दवा का सेवन कराया

महेवा ब्लाक के ग्राम बिजौली में ग्रामीणों ने फाइलेरिया की दवा खाने से मना कर दिया तब सुपरवाइजर सुधा ने बताया कि आशा मंजू के साथ मिलकर उन्होंने सभी को फाइलेरिया की दवा के महत्व के बारे में विस्तारपूर्वक समझाया और उसके बाद ग्रामीण लोगों ने दवा का सेवन किया।

बिजौली ग्राम के किसान रामस्वरूप ने बताया कि स्वास्थ्य टीम व आशा मंजू ने मुझे जब इस सरकारी दवा के संदर्भ में विस्तार पूर्वक जानकारी दी तब मुझे इस दवा महत्व का पता चला फिर मैंने दवाई का सेवन किया और मुझे किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई।

बसरेहर ब्लॉक की सुपरवाइजर ज्योति यादव और आशा रीता के सफल प्रयासों के द्वारा अभियान के प्रथम दिन ही 25 घरों में भ्रमण कर सभी को सफलतापूर्वक दवा का सेवन कराया गया। सुपरवाइजर ज्योति यादव ने बताया कुछ ग्रामीण लोग पहले दवा का सेवन करने से मना कर देते हैं लेकिन उनको सही मार्गदर्शन प्रदान करते हुए फाइलेरिया दवा के फायदे के संदर्भ में विस्तृत जानकारी दी जाती है।जिससे वह प्रोत्साहित होकर दवा का सेवन करते हैं।

 उन्होंने बताया लोहिया कला ग्राम निवासी 30 वर्षीय प्रदीप ने पहले दवा का सेवन करने से मना कर दिया लेकिन हमारी टीम ने हार नहीं मानी दूसरे दिन हम लोग उनके यहां फिर गए प्रदीप को फाइलेरिया की दवा के सेवन क्यों आवश्यक है इस बारे में फिर बताया उसके बाद उन्होंने स्वेच्छा से हम लोगों के सामने ही दवा का सेवन किया।

ज्योति ने बताया कि अभियान की शुरुआत में कुछ लोगों ने जरूर दवा का सेवन कर ने से मना कर दिया लेकिन जैसे-जैसे फाइलेरिया दवा सेवन के संदर्भ में सही जानकारी लोगों तक पहुंची फिर लोग दवा का सेवन करने लगे। ज्योति ने बताया कि आशा,आंगनवाड़ी और सहयोगी संस्था पाथ के सहयोग से  बसरेहर ब्लॉक के लोहिया कला, लोहिया खुर्द,बख्तियारपुर, खेड़ा हेलू, आदि गांव में जब लोगों को दवा के सेवन के संदर्भ में समझाया और फाइलेरिया की दवा के लाभ के बारे में बताया तो  जागरूकता इस तरह से लोगों के अंदर आई अब लोग फोन कर घर पर बुलाकर दवा का सेवन कर रहे हैं।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner