Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

इटावा,सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा केतहत अभिभावकों को किया जा रहा जागरूक.

post

इटावा,सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा केतहत अभिभावकों को किया जा रहा  जागरूक


15 जून तक घर-घर जाकरआशा वितरित करेंगी निशुल्क ओआरएस पैकेट व जिंक गोलियां


बच्चों को दस्त शिकायत होने पर ज़िंक की गोलियां 14 दिन तक नियमित रूप से सेवन करवाएं


इटावा, 3 जून 2022।


गर्मियों में अक्सर देखा गया है कि बच्चे दस्त से जल्दी ग्रसित हो जाते हैं | इसी को ध्यान में रखते हुए बच्चों को दस्त से बचाने और अभिभावकों को इस बारे में जागरूक बनाने के लिए एक जून से सघन दस्त नियन्त्रण पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है | 


सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा के तहत15 जून तक आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर ओआरएस घोल बनाने की विधि व जिंक गोलियों के उपयोग के प्रति जागरूकता बढाने के साथ दस्त से पीड़ित बच्चों को चिन्हित कर उपचार दिलाने में मदद कर रही हैं| यह जानकारी मुख्यचिकित्सा अधिकारी डॉ भगवानदास ने दी।उन्होंने बताया कि पांच साल तक की उम्र के बच्चों के अभिभावकों को दस्तके दौरान ओआरएस और जिंक के उपयोग को लेकर विस्तृत जानकारी दी जाएगी, जिससे लोगों में जागरूकता आए और दस्त की वजह से होने वाली बाल मृत्युदर में भी कमी लाई जा सके।

डीपीएम संदीप दीक्षित ने बताया कि सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा के अंतर्गत जनपद की सभी आशा कार्यकर्ता निर्देशानुसार घर-घर भ्रमण कर पांच साल तक के उम्र के बच्चों की सूची तैयार कर रही हैं।उन्होंने बताया कि जिनपरिवारों में पांच साल तक की उम्र के बच्चे हैं उन्हें ओआरएस बनाने की विधि व इसके इस्तेमाल के बारे में बताया जा रहा है | दस्त में शिशु की देखभाल कैसे करें इसके बारे में आशा द्वारा अभिभावकों को विस्तृत जानकारी दी जा रही है।जिन परिवारों में दस्त से पीड़ित बच्चे हैं उन परिवारों को चिन्हितकर आशा व एएनएम के जरिए ओआरएस और जिंक की दवाओं को निशुल्क वितरण किया जा रहा है और चिन्हित बच्चों को अस्पताल में उपचार दिलाने में मदद भी की जा रही है।


बाल रोग विशेषज्ञ की राय


डॉ भीमराव अंबेडकर जिला अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ पी के गुप्ता ने बताया - सामान्य डायरिया होने पर बच्चे को घर पर ही ओआरएस का घोल पिलाएं साथ में सुपाच्य तरल आहार देते रहें।  बच्चे को  कई बार पानी जैसा मल आने,बार बार उल्टी होने,अत्यधिक उल्टी होने, पानी न पीने, बुखार, मल में खून आने जैसी समस्याएं हो तो उसे तुरंत अस्पताल लेकर आना चाहिए और चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए।

डॉ पीके गुप्ता ने बताया कि बच्चे को दस्त शुरू होनेपर ओआरएस का घोल अवश्य दें साथ में जिंक की गोली भी दें।लेकिन दोसे 6 माह के  छोटे बच्चों को आधीगोली (10 मिलीग्राम) और 6 माहसे 5 वर्ष तक के बच्चों को एक गोली (20 मिलीग्राम)  देनाहै।उन्होंने बताया कि जिंक की गोली बच्चे की प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ाती ही है साथ में आंतों में प्रतिरोधक क्षमता बेहतर बनाती है।इसलिए बच्चे को दस्त सही होने पर भी इस का सेवन 14  दिन तक अवश्य करवाएं।उन्होंने बताया कि यदि 14 दिन तक जिंक की गोली का सेवन बच्चे को कराया जाता है तो आने वाले दो-तीन माह तक डायरियाया दस्त जैसी शिकायतें शिशु व बच्चे कम होती हैं।

अपर मुख्यचिकित्सा अधिकारी डॉ बीएल संजय ने बताया कि सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़े के तहत माताओं को जागरुक कर विस्तृत जानकारी दी जा रही है।उन्होंने बताया किस भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, जिला चिकित्सालय में ओआरएस एंड जिंक कॉर्नर्स बनाए गए हैं जहां ओआरएस और जिंक टेबलेटके माध्यम से सामान्य डायरिया में ओआरएस और जिंक टेबलेट का सेवन कैसे कराना है इस बारे में भी जानकारी भी उपलब्ध कराई जा रही है।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner