Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

इटावा,आयुष्मान के दायरे में आएँगी 1256आशा व 64 आशा संगिनियां.

post

इटावा,आयुष्मान के दायरे में आएँगी 1256आशा व 64 आशा संगिनियां 


परिवार सहित होंगी लाभान्वित

इटावा , 08जून 2022


जिले की सभी आशाओं व आशा संगिनियों को आयुष्मान भारत के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा। इसको लेकर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक अपर्णा उपाध्याय ने पत्र जारी कर दिया है। इस योजना से जिले की 1256 आशा कार्यकर्ताओं को परिवार सहित आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान करने की तैयारी है । इस योजना से 64 आशा संगिनी भी परिवार सहित लाभान्वित होंगी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ भगवानदास भिरोरिया ने बताया कि डिस्ट्रिक्ट कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर प्रभात बाजपेई के स्तर से संपूर्ण विवरण के साथ सूची तैयार कर शासन को भेजी जाएगी।


सीएमओ ने बताया कि मिशन निदेशक ने इस संबंध में पत्र भेज कर दिशा निर्देशित किया है । पत्र के मुताबिक आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना व मुख्यमंत्री जनआरोग्य अभियान के तहत आशा कार्यकर्ता, संगिनी व उनके परिवार को पांच लाख रुपये तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जानी है । इस संबंध में निर्धारित प्रारूप पर डेटा मांगा गया है। प्रदेश स्तर पर डेटा संकलन के बाद लाभार्थी परिवारों को मुख्य मंत्री जन आरोग्य अभियान से जोड़ने के संबंध में निर्धारित प्रक्रिया के बाद शासनादेश जारी किया जाएगा ।


डॉ आशीष जिला कार्यक्रम समन्वयक ने बताया कि योजना की स्टेट हेल्थ एजेंसी साचीज द्वारा भेजे गये प्रारूप पर ब्लॉक डेटा को इकट्ठा कर राज्य स्तर पर भेजा जाएगा। 


यह होगा लाभ


आयुष्मान भारत योजना के डीपीएम ने कहा कि योजना से जुड़ जाने के बाद पात्र लाभार्थी को किसी भी बीमारी का इलाज भर्ती होकर करवाने पर संबद्ध अस्पतालों में पांच लाख रुपये प्रति लाभार्थी परिवार का निःशुल्क इलाज मिल सकेगा । योजना के तहत जिले में पहले से ही करीब 162998 लाभार्थी को लाभ मिला है। इन लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड के जरिये संबद्ध निजी और सरकारी अस्पताल में भर्ती होकर पांच लाख तक का इलाज करवाने की सुविधा उपलब्ध है।


इन बीमारियों का  होता है इलाज


योजना के तहत मातृ स्वास्थ्य  और सी-सेक्शन या उच्च जोखिम प्रसव की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, कैंसर, टीवी, कीमोथेरपी, रेडिएशन थेरेपी, हार्ट बाईपास सर्जरी, न्यूरो सर्जरी,  आंखों की सर्जरी,  दिल की बीमारी, किडनी, लीवर, कोरोनरी बायपास, घुटना प्रत्यारोपण, स्टंट डालना, आंख, नाक, कान और गले से संबंधित बीमारियों का निःशुल्क इलाज प्रमुख तौर पर शामिल है।


आशा व आशा संगिनी की जुबानी 


 शहरी क्षेत्र करौल की आशा मीरा कुमारी कहती है सरकार द्वारा प्रथम पंक्ति में काम रहीं हम आशाओं के लिये आयुष्मान में सम्मिलित होना किसी उपहार से काम नहीं।  हम सभी आशाएं बहुत ही खुश है और हमारे परिवार के सदस्यों को भी अत्यंत ख़ुशी है।उय

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner