Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

अटरिया सीतापुर आधा दर्जन से ज्यादा आम के पेड़ों का कटान रेंजर, फॉरेस्टर ,पुलिस लकड़ी सहित ठुठ भी गए डकार.

post

अटरिया सीतापुर आधा दर्जन से ज्यादा आम के पेड़ों का कटान रेंजर, फॉरेस्टर ,पुलिस लकड़ी सहित ठुठ भी गए डकार

वन विभाग और अटरिया पुलिस के द्वारा निजी शुल्क लेकर चलवाया जा रहा है फलदार वृक्षों पर आरा

 भ्रष्ट अधिकारियों की मिलीभगत से वन माफिया हो रहे मजबूत

 अटरिया सीतापुर! उत्तर प्रदेश के जनपद सीतापुर के विकासखंड सिधौली थाना अटरिया के अंतर्गत सोनर तला गांव ईट  घर भट्टे के बीच स्थित माया देवी एवं अन्य तीन बहनों के नाम दर्ज भूमि में लगभग 20 से 25 वर्ष पुराने मोटे हरे आम के पेड़ों को काट गिराने के पश्चात सूचना पर पहुंचे क्षेत्रीय वन अधिकारी रामसेवक वर्मा तथा संबंधित क्षेत्र के फॉरेस्टर हीरामणि मिश्रा मां का मायना करते हुए काटे गए आवाज पेड़ों की ना पाई करते हुए संबंधित भूमि स्वामी सहित संबंधित लकड़ी कटा रहे ठेकेदार की जानकारी एकत्रित करने के पश्चात लकड़ी कटान में उपयोग की जा रही इलेक्ट्रॉनिक मशीन को भी जट किया गया था किंतु एकाएक रात के अंधेरे में कैसे बिना किसी वन अधिकारी के संरक्षण के  बावजूद रात के अंधेरे में काटे गए पेड़ों की लकड़ियों सहित संबंधित पेड़ों के ठूंठ भी जेसीबी के माध्यम से खुदवा कर गायब कर दिए गए क्षेत्र में उक्त घटना के बाद विभाग के अधिकारियों की कार्यशैली पर बड़े सवाल उठा रही है आखिर कैसे बिना किसी संरक्षण के अवैध पेड़ कटान कर रहे लकड़ कट्टों ने रात के अंधेरे में लकड़ी सहित भूमि से जेसेबी के द्वारा पेड़ों के ठूंठ भी उखाड़  के अंधेरे में गायब कर दिए गए इस बड़ी घटना ने संबंधित वन अधिकारियों की पोल खोल कर रख दी है बेधड़क दबंग ठेकेदार और वन विभाग तथा थाना अटरिया पुलिस के द्वारा निजी शुल्क लेकर हरे भरे वृक्षों पर आरा चलवाया जा रहा है एक तरफ सूबे की सरकार योगी आदित्यनाथ के द्वारा पर्यावरण को बढ़ावा दिया जा रहा है और प्रतिदिन जगह जगह पर वृक्षारोपण करवाया जा रहा  भ्रष्ट अधिकारी व पुलिस के मिलनसार के द्वारा  उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन जैसी कमियां कम होती चली जा रही है यदि इसी तरीके से पर्यावरण को कम करवाया जाता रहेगा तो 1 दिन ऑक्सीजन की वजह से मनुष्य ही नहीं पशु पक्षियों में  भी त्राहि त्राहि मचेगी और फिर पर्यावरण से ऑक्सीजन नष्ट हो जाएगी!