Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

शाहजहाँपुर,प्रभारी चिकित्सा अधिकारी कलान शासन की मंशा के अनुरूप नहीं करते कार्य.

post

शाहजहाँपुर,प्रभारी चिकित्सा अधिकारी कलान शासन की मंशा के अनुरूप नहीं करते कार्य


सरकार की छवि धूमिल करने पर उतारू हैं एमओआईसी


प्रसव केंद्र पर रात में रहता है अंधेरा

नहीं चलाया जाता है जनरेटर


मंगलवार की रात मोमबत्ती की रोशनी में कराया जा रहा था प्रसव


डीएम के हस्तक्षेप के बाद चला जनरेटर


दिनेश मिश्रा


कलान-शाहजहांपुर

प्रभारी चिकित्सा अधिकारी कलान शासन की मंशा के अनुरूप कार्य नहीं करते हैं। एमओआईसी कलान सरकार की छवि धूमिल करने पर उतारू है। एक तरफ जहां प्रदेश की योगी सरकार सड़क शिक्षा एवं स्वास्थ्य पर करोड़ों रुपए पानी की तरह बहा रही है।तो वहीं दूसरी तरफ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्वास्थ्य पर सेवाओं का अभाव है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्थित प्रसव केंद्र पर रात भर अंधेरा रहता है। मंगलवार की रात को एक बार फिर प्रसव केंद्र पर अंधेरा था। मोमबत्ती की रोशनी में प्रसव कराया जा रहा था। जनरेटर भी नहीं चलाया गया। जब इसकी भनक मीडिया को लगी तो कुछ मीडियाकर्मी प्रसव केंद्र जा पहुंचे।जहां उन्होंने प्रसूता रुखसाना पत्नी आशिक खां निवासी धर्मपुर तथा दूसरी प्रसूता काजल पत्नी देव सिंह निवासी ग्राम गुल्लाह के परिजनों से बात की तो पता चला कि यहां जनरेटर नहीं चलाया गया ।मोमबत्ती जलाकर मोमबत्ती की रोशनी में प्रसव कराया जा रहा है। प्रसव केंद्र पर पीने के पानी का भी अभाव है। मीडिया कर्मियों ने सीएमओ से बात करनी चाही। लेकिन सीएमओ शाहजहांपुर का फोन रिसीव नहीं हुआ। तब इसकी सूचना जिला अधिकारी उमेश प्रताप सिंह को दी गई। तब डीएम के हस्तक्षेप के बाद जनरेटर स्टार्ट हुआ। इस पूरे घटनाक्रम से ऐसा प्रतीत होता है कि प्रभारी चिकित्सा अधिकारी कलान कितने लापरवाह और गैर जिम्मेदाराना हैं?

ज्ञात हो कि इससे पहले भी 31 जुलाई की रात मे भी मोमबत्ती की रोशनी में प्रसव कराया गया था।लापरवाही के कारण नवजात शिशु की मौत हो गई थी।

बॉक्स-

कलान प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात एंबुलेंस सेवा ठप


जरीनयपुर सीएचसी पर तैनात एंबुलेंस से चलाया जा रहा काम


कलान-शाहजहांपुर

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कलान पर चार एंबुलेंस वाहन तैनात हैं। जिसमें दो 102 तथा दो 108 से हैं।जो चारों खराब खड़ी हैं। जिस कारण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कलान की एंबुलेंस सेवा बिल्कुल ठप हो गई है। कलान की एंबुलेंस सेवा ठप हो जाने के बाद अब जरीयनपुर सीएचसी पर तैनात एंबुलेंस की सेवाएं ली जा रही है। जबकि केंद्र तथा उत्तर प्रदेश सरकार महीने में करोड़ों रुपए एंबुलेंस सेवा पर खर्च कर रही है। यदि इस प्रकरण को अधिकारियों ने गंभीरता से नहीं लिया तो कभी भी एंबुलेंस के अभाव में किसी गंभीर घायल या गंभीर स्थिति की प्रसूता की जान भी जा सकती है।

जब इस संबंध में शाहजहांपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ पीके वर्मा  के मोबाइल फोन पर कॉल की गई।तो उन्होंने फोन कॉल रिसीव नहीं की।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner