Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

शाहजहाँपुर,सतीश हत्याकांड में प्रधान पति,पुत्र समेत सात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज.

post

फॉलोअप सतीश हत्याकांड

शाहजहाँपुर,सतीश हत्याकांड में प्रधान पति,पुत्र समेत सात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज


घटना के 24 घंटे के बाद भी पुलिस के हाथ खाली, आरोपी फरार, आरोपियों के घरों पर पसरा सन्नाटा


पुलिस चाहती तो बच सकती थी मृतक सतीश की जान


इससे पहले 15 अगस्त को थाना क्षेत्र के गांव सथरी में भी आरोपी और मृतक के बीच हुआ था विवाद


तहरीर के बाद भी नहीं की थी पुलिस ने कोई कार्रवाई


पेप्सी की बोतल ईंट-पत्थरों और लाठी-डंडों से किया गया हमला


आधा घंटा तक मुरादाबाद -फर्रुखाबाद स्टेट हाईवे पर होता रहा तांडव


आधा घंटे तक हाइवे रहा जाम, सूचना के बाद घटनास्थल पर नहीं पहुंची पुलिस


मृतक के बारे में पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के अलग-अलग बयान


कलान-शाहजहांपुर


थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत गंगोरा के मझरा रसूलपुर निवासी सतीश हत्याकांड में प्रधान पति-पुत्र समेत सात लोगों के विरुद्ध गंभीर धारा में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। घटना के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी कलान थाना पुलिस के हाथ खाली हैं। बताया जाता है कि मृतक सतीश अपने भाई विपिन के साथ प्रकट ट्राली पर सवार होकर अपने गांव रसूलपुर जा रहा थाःतभी रास्ते में जखिया गांव के समीप मुरादाबाद फर्रुखाबाद स्टेट हाईवे पर मोटरसाइकिल पर सवार हमलावरों ने सतीश के ट्रैक्टर को ओवरटेक कर रोक लिया और गाली गलौज करते हुए सतीश उसके भाई पर हमला बोल दिया। जब इसकी सूचना समीपवर्ती गांव गंगोरा और रसूलपुर में पहुंची तो दोनों तरफ से बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे हो गए।इसके बाद लगभग आधे घंटे तक स्टेट हाईवे पर जमकर तांडव होता रहा।प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हमलावरों और मृतक के बीच मारपीट,ईट पत्थर,लाठी-डंडे तथा पेप्सी की खाली बोतले चलती रहीं। जिस कारण मुरादाबाद फर्रुखाबाद स्टेट हाइवे पर दोनों तरफ से वाहनों की लंबी-लंबी  कतारें लग गईं।लेकिन सूचना मिलने के बाद भी पुलिस ने मौके पर पहुंचने की जहमत तक नहीं उठाई। जिससे मृतक सतीश और उसका भाई विपिन गंभीर से घायल हो गया। इसके बाद दोनों घायल गंभीर अवस्था में थाने पहुंचे। घंटो बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की और न ही घायलों को अस्पताल भेजने की जरूरत समझी।जब सतीश थाने में बेहोश हो गया। इसके बाद पुलिस ने आनन-फानन में दोनों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया। जहां डॉक्टरों ने सतीश को मृत घोषित कर दिया। जब इस संबंध में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर दिनेश प्रताप से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सतीश मृत अवस्था में अस्पताल पहुंचा था। उसका भाई गंभीर रूप से घायल था । जिसे उपचार के लिए जिला अस्पताल शाहजहांपुर रेफर कर दिया गया। 


उधर मृतक के भाई विपिन ने बताया कि बीते चार दिन पूर्व उसके भाई सतीश और आरोपियों से आटा चक्की को लेकर विवाद हो गया था। जिसकी तहरीर सतीश ने कलान थाने पर दी थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई त्रनहीं की।यदि पुलिस समय रहते कार्रवाई करती। तो मृतक सतीश की जान बच सकती थी।


 वहीं इस पूरी घटना मामले में पुलिस ने मृतक सतीश के चाचा कालीचरण की तहरीर पर श्रीराम, शिवा,मोहित,बबलू,आलोक, दुष्यंत,अमरपाल के विरुद्ध मुकदमा अपराध संख्या-443/22 धारा-147,148,149,304,308,323,504,506दर्ज विवेचना शुरू कर दी है।

उधर जब इस संबंध में कलान के प्रभारी निरीक्षक जग नारायण पाण्डेय से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मृतक के चाचा कालीचरन की तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है।गिरफ्तारी के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दी जा रही है। अतिशीघ्र आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner